अभिमत - बातें बेहतर कल की...

शिक्षा के क्षेत्र में ऐसे अनगिनत विषय हैं जिनपर विचार-मंथन की सगज प्रक्रिया अनवरत चलती रहनी चाहिए। इससे नवाचारी विचारों को सामने लाने का अवसर तो मिलता ही है, साथ ही उनके बारे में सोंचने-समझने की संस्कृति भी सुदृढ़ होती है। शिक्षा में गुणात्मक विकास में नवीन विचारों की भूमिका एक संजीवनी की तरह है। इसलिए, ऐसे विचारों को आगे लाने एवं उनको साझा करने की मुक्त व्यवस्था होनी चाहिए जहाँ हर उपयोगी विचार को पूरा सम्मान एवं उचित स्थान मिल सके। इसी उद्देश्य से 'टीचर्स ऑफ बिहार' ने 'अभिमत' के रूप में अपने मुखपत्र का आगाज़ किया है।इसके माध्यम से शिक्षा में सकारात्मक परिवर्तन एवं भविष्योन्मुखी चिंतन से जुड़ी आपके तमाम विचारों को सहज एवं सरल भाषा मे सबके समक्ष लाने का प्रयास रहेगा।

अभिमत के बारे में अधिक जानने के लिए विजिट करें  www.teachersofbihar.org/abhimat । अभिमत में अपनी बात रखने के लिए ईमेल करें abhimat.teachersofbihar@gmail.com या वेबसाइट पर शेयर करे|

पुरस्कारों की दुनियाँ

हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी अपेक्षित मानदंडों के आधार पर चयनकर्ताओं द्वारा उत्कृष्ट शिक्षक रूपी हीरे निकाल ही लिए गए। ऐसे चयन कार्यों की पृष्ठभूमि में कई स्तरों पर खोजबीन...

Read as Text Read as Magazine

Share Your Abhimat